Home Full Form ईएमजी फुल फॉर्म

ईएमजी फुल फॉर्म

by PoonitRathore
A+A-
Reset

ईएमजी शब्द का अर्थ इलेक्ट्रोमायोग्राफी है। यह एक प्रकार का परीक्षण है जो मांसपेशियों और तंत्रिकाओं और उनके बीच संबंध से संबंधित है। इलेक्ट्रोमायोग्राफी के साथ, मांसपेशियों से तंत्रिका संचार की स्थिति का आकलन किया जाता है। यह निदान प्रक्रिया इलेक्ट्रोमायोग्राफी की मदद से कंकाल की मांसपेशियों की विद्युत गति को रिकॉर्ड और मूल्यांकन करती है। रिकॉर्डिंग को इलेक्ट्रोमायोग्राम के नाम से जाना जाता है।

मानव शरीर के अंदर तंत्रिका कोशिकाएं अन्य तंत्रिकाओं और मांसपेशियों को संकेत भेजने के लिए मोटर सिग्नल उत्पन्न करती हैं। ईएमजी संक्षेप की मदद से डॉक्टर यह आकलन करते हैं कि आपकी मांसपेशियां उन संकेतों पर सही ढंग से प्रतिक्रिया दे रही हैं या नहीं। तंत्रिका कोशिकाओं को मोटर न्यूरॉन्स के रूप में भी जाना जाता है जो संकेत प्राप्त करने का दावा करते हैं और फिर उसके अनुसार कार्य करते हैं।

ईएमजी का मुख्य कार्य क्या है?

ईएमजी का मुख्य कार्य तंत्रिका कोशिकाओं और मांसपेशियों के बीच संचार की स्थिति की जांच करना है। यदि आपकी मांसपेशी संयोजी ऊतकों को आवश्यक संकेत भेजने में विफल रहती है, तो आप दैनिक कार्य आसानी से नहीं कर पाएंगे। डॉक्टर आपके तंत्रिका तंत्र की स्थिति की निगरानी के लिए इलेक्ट्रोमायोग्राफी का उपयोग करते हैं।

ईएमजी का पूरा अर्थ आपकी मांसपेशियों द्वारा भेजे गए संकेतों के जवाब में आपकी नसों की विद्युत गतिविधि का निरीक्षण करना है। यदि कोई न्यूरोमस्कुलर असामान्यताएं हैं, तो ईएमजी द्वारा इसका आसानी से पता लगाया जाएगा। कृपया ध्यान दें कि प्रक्रिया के दौरान, त्वचा को भेदते हुए आपकी मांसपेशियों में एक से अधिक छोटी सुईयां डाली जाएंगी।

क्या इलेक्ट्रोमायोग्राफी टेस्ट दर्दनाक है?

हां, ईएमजी संक्षिप्तीकरण या इलेक्ट्रोमायोग्राफी परीक्षण दर्दनाक है क्योंकि मांसपेशियों तक पहुंचने के लिए आपकी त्वचा में छोटी सुइयों की आवश्यकता होती है। पूरी प्रक्रिया असुविधा उत्पन्न कर सकती है। परीक्षण के बाद कुछ दिनों तक आपकी मांसपेशियों में दर्द हो सकता है। इसलिए यदि आप ईएमजी परीक्षण से गुजरने वाले हैं तो तैयार रहें।

यदि रीडिंग असामान्य निकले तो क्या होगा?

यदि आपको मांसपेशियों में कमजोरी जैसे लक्षण दिखाई देते हैं, तो आपका डॉक्टर आपको ईएमजी मीनिंग टेस्ट कराने का सुझाव दे सकता है। परीक्षण यह निर्धारित करेगा कि क्या समस्या आपकी मांसपेशियों में है जो काम कर रही है या तंत्रिका तंत्र में है जो मांसपेशियों को नियंत्रित कर रही है। यह प्रक्रिया केवल यह बता सकती है कि आपकी मांसपेशियों में कोई असामान्यताएं हैं या नहीं। परीक्षण से आपको पता नहीं चलेगा कि असामान्यताएं क्यों हो रही हैं। इसके लिए आपका विशेषज्ञ डॉक्टर आपका मार्गदर्शन करेगा।

सामान्य ईएमजी परिणाम क्या है?

एक सामान्य ईएमजी परीक्षण इस तथ्य को उजागर करेगा कि आपका तंत्रिका तंत्र बिल्कुल ठीक है और मांसपेशियों को संकेत भेज रहा है। यह यह भी बताता है कि आपकी मांसपेशियाँ संकेत प्राप्त कर रही हैं और आदेशों को उचित रूप से क्रियान्वित कर रही हैं। तंत्रिका चालन वेग की सामान्य सीमा 50-60 है। यदि रिपोर्ट कम संख्या के साथ आती है, तो इसका मतलब है कि आपकी तंत्रिका आपकी मांसपेशियों को कमजोर संदेश भेज रही है।

वे कौन सी स्थितियाँ हैं जब आपका डॉक्टर आपसे ईएमजी परीक्षण कराने के लिए कह सकता है?

You may also like

Leave a Comment