Home Full Form एएमएल फुल फॉर्म

एएमएल फुल फॉर्म

by PoonitRathore
A+A-
Reset

एएमएल का पूरा अर्थ एक्यूट माइलॉयड ल्यूकेमिया है। यह एक प्रकार का रक्त कैंसर है जो अस्थि मज्जा में उत्पन्न होता है। इस बीमारी का उद्देश्य अपरिपक्व मायलोजेनस कोशिकाओं को बाधित करना और ल्यूकेमिक ब्लास्ट कोशिकाओं का उत्पादन करना है। माइलॉयड कोशिकाएं श्वेत रक्त कोशिकाओं, लाल रक्त कोशिकाओं और प्लेटलेट्स की अग्रदूत होती हैं और इन तरीकों से स्वस्थ कोशिकाओं का निर्माण प्रभावित होता है।

एएमएल संक्षिप्त नाम या एक्यूट माइलॉयड ल्यूकेमिया से पीड़ित व्यक्ति अंततः सफेद रक्त कोशिकाओं, प्लेटलेट्स और लाल रक्त कोशिकाओं को खोने लगता है। अगर यह प्रक्रिया लंबे समय तक जारी रहे तो इससे मौत भी हो सकती है।

मानव शरीर में तीव्र माइलॉयड ल्यूकेमिया का क्या कारण है?

एएमएल का मतलब एक्यूट माइलॉयड ल्यूकेमिया है। यह डीएनए उत्परिवर्तन की प्रक्रिया में आपके अस्थि मज्जा में बनता है। अस्थि मज्जा श्वेत रक्त कोशिकाओं, लाल रक्त कोशिकाओं और प्लेटलेट्स का उत्पादक है। डीएनए उत्परिवर्तन स्टेम कोशिकाओं को आवश्यकता से अधिक संदूषण-विरोधी श्वेत कोशिकाएं उत्पन्न करने के लिए प्रेरित करता है। क्षतिग्रस्त रक्त कोशिकाओं की निर्बाध वृद्धि सामान्य रक्त कोशिकाओं में बाधा उत्पन्न करती है।

कैंसर के किस चरण को एएमएल के नाम से जाना जाता है?

एएमएल का पूरा अर्थ मानव शरीर में श्वेत रक्त कोशिकाओं की असामान्य वृद्धि के अलावा कुछ नहीं है। अस्थि मज्जा असामान्य कोशिकाएं उत्पन्न करता है जो रक्त में अन्य सामान्य कोशिकाओं को बाधित करती रहती हैं। यदि उचित उपचार न किया जाए तो ऐसी बीमारियाँ पलक झपकते ही बदतर हो जाती हैं।

एएमएल के उपचार चरण क्या हैं?

  • छूट: यह उपचार का प्राथमिक चरण है। इस चरण में, उद्देश्य रक्त में मौजूद क्षतिग्रस्त कोशिकाओं को ध्वस्त करना है।

  • छूट के बाद की विधि: यह इस बीमारी का दूसरा चरण है। यह अवस्था अस्थि मज्जा में ल्यूकेमिया कोशिकाओं की वृद्धि को बनाए रखने के बाद आती है।

निष्कर्ष

एक्यूट माइलॉयड ल्यूकेमिया घातक कैंसर है जो मृत्यु का कारण बन सकता है। यदि आपके किसी परिचित मरीज़ में एएमएल संक्षेपण का निदान किया गया है, तो बिना देरी किए उपचार शुरू करने का प्रयास करें। एएमएल फुल फॉर्म का त्वरित उपचार ही इस घातक बीमारी को ठीक कर सकता है।

You may also like

Leave a Comment